0
0
0
s2sdefault

कैटालोनिया संकट में स्पेन का मध्यस्थता से इंकार

स्पेन की सरकार ने कैटालोनिया संकट में मध्यस्थता करने से इंकार कर दिया है. कैटालोनिया के नेताओं ने क्षेत्र की स्वतंत्रता की मांग पर मध्यस्थता की मांग की थी. स्पेन के प्रधानमंत्री ने कैटालोनिया के राष्ट्रपति से बातचीत के लिए स्वतंत्रता की मांग छोड़ने की शर्त रखी. स्पैनिश प्रधानमंत्री मारियानो राजॉय ने उत्तर पूर्व में स्थित कैटालोनिया प्रांत में किसी भी प्रकार के जनमत संग्रह के होने से साफ-साफ इंकार किया है. कैटालोनिया के लोगों को प्रतिबंधित जनमत संग्रह में भाग लेने के लिए स्थानीय सरकार को पूरी तरह दोषी ठहराते हुए यह कहा कि यह कुछ षड़यंत्रकारी अलगाववादियों की लोकतंत्र द्बारा स्थापित सरकार के खिलाफ एक गंभीर साजिश थी. वहीं कैटालोनिया प्रांत की सरकार का साफ-साफ कहना है कि स्पेन से अलग होने के लिए कराए गए जनमत संग्रह में तकरीबन 22.6 लाख लोगों ने मतदान किया.


अमेरिका से क्यूबा के 15 राजनयिकों का निष्कासन

अमेरिका ने 3 अक्टूबर को क्यूबा के 15 राजनयिकों को निष्कासित कर दिया. क्यूबा में अमरीकी राजनयिकों पर हो रहे रहस्मयी हमलों को रोकने में नाकाम रहने के कारण अमेरिका ने यह कदम उठाया है.


अमेरिका में संगीत समारोह के दौरान गोलीबारी

अमरीका में लास वेगस में 2 अक्टूबर को एक संगीत समारोह के दौरान एक बन्दूकधारी ने अंधाधुंध गोलीबारी की. इस गोलीबारी में कई लोगों की मौत हो गयी. हमलावर स्थानीय निवासी 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक था. अमेरिका के इतिहास में इस तरह की यह सबसे बड़ी घटनाओं में से एक है.


चीन का 68वां राष्ट्रीय दिवस

चीन ने 1 अक्टूबर को अपना 68वां राष्ट्रीय दिवस मनाया. इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए तियानमेन चौक पर 115,000 लोग इकट्ठा हुए. राष्ट्रगान ‘मार्च ऑफ द वॉलिंटियर्स’ बजने पर लोग शांत होकर खड़े हो गए और इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया. तियानमेन चौक पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हुए देखना चीन का राष्ट्रीय दिवस मनाने का तरीका है. चीन के नए राष्ट्रगान कानून के मुताबिक, 1 अक्टूबर से अब राष्ट्रगान को सार्वजनिक कार्यक्रमों में ही गाया जा सकेगा.


कैटलोनिया के स्पेन से अलग होने के लिए जनमतसंग्रह

स्पेन के उत्तर-पूर्व में स्थित कैटलोनिया प्रांत के स्पेन से अलग होने के लिए 1 अक्टूबर को जनमत संग्रह हुआ. स्पेन की सरकार ने इस जनमत संग्रह को असंवैधानिक बताकर इसपर प्रतिबंध लगा दिया था. सरकार ने जनमत संग्रह की कोशिशों को विफल करने के लिए हजारों पुलिसकर्मियों को देश के विभिन्न हिस्सों में तैनात किया था. स्पेन पुलिस ने लोगों को वोट डालने से रोकने का प्रयास भी किया.


अरुणाचल सीमा के पास तिब्बत में नया राजमार्ग खोला

चीन ने तिब्बत की प्रांतीय राजधानी ल्हासा को निंगची को जोड़ने के लिए करीब 5.8 अरब डॉलर की लागत वाला 409 किमी लंबा एक्सप्रेसवे खोला है. निंगची अरुणाचल प्रदेश की सीमा के नजदीक है. इस मार्ग पर वाहनों की गति सीमा 80 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. गौरतलब है कि तिब्बत में ज्यादातर एक्सप्रेसवे सैन्य साजोसामान ढोने में सक्षम हैं, जिससे चीनी सेना को अपने सैनिकों और हथियारों को तेजी से लाने ले जाने में सुविधा होती है.


ऑस्ट्रिया में बुर्का और नक़ाब पर प्रतिबन्ध लागू

ऑस्ट्रिया में बुर्का और नक़ाब पर प्रतिबन्ध लगाने वाला कानून 1 अक्टूबर से लागू हो गया. सरकार ने कहा है कि ऑस्ट्रियाई लोगों और अन्य देशों से आकर वहां रहने वाले लोगों के बीच सौहार्दपूर्ण तालमेल के लिए ऑस्ट्रियाई मूल्यों का सम्मान औऱ उन्हें स्वीकार करना मूल शर्तें हैं.


मानव तस्करी पर कार्रवाई में असफल देशों की अमरीका की नई सूची

अमरीका ने ईरान, वेनेजुएला और चार अन्य अफ्रीकी देशों को मानव तस्करी पर कार्रवाई करने में असफल रहने वाले देशों की सूची में डाला है. व्हाइट हाउस के अनुसार इस सूची में शामिल उत्तर कोरिया, एरिट्रिया, रूस और सीरिया पर भी प्रतिबंध बढ़ाए जा रहे हैं. ये देश अमरीका के साथ शैक्षिक और सांस्कृतिक आदान प्रदान कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो सकेंगे.


अमरीका ने आई.आर.जी.सी. पर प्रतिबंध लगाया

अमरीका ने 14 अक्टूबर को ईरान की इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आई.आर.जी.सी.) पर प्रतिबंध लगा दिया. यह प्रतिबन्ध विभिन्न आतंकवादी संगठनों को कथित समर्थन देने के आरोप में लगया गया है.अमरीका ने आई.आर.जी.सी. पर प्रतिबंध लगाया
अमरीका ने 14 अक्टूबर को ईरान की इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आई.आर.जी.सी.) पर प्रतिबंध लगा दिया. यह प्रतिबन्ध विभिन्न आतंकवादी संगठनों को कथित समर्थन देने के आरोप में लगया गया है.


चीन ने वापस ली यूनेस्को प्रमुख की दावेदारी

चीन ने 14 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र शैक्षणिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) के प्रमुख पद की दावेदारी छोड़ दी है. उसने मिस्र के उम्मीदवार के समर्थन में अपने उम्मीदवार को हटा लिया है. उल्लेखनीय है कि 13 अक्टूबर को इजरायल और अमेरिका ने भेदभाव का आरोप लगाते हुए इस संगठन से अलग होने की घोषणा की थी.


ईरान के परमाणु समझौते को आगे बढाने से अमेरिका का इंकार

अमरीका ने 13 अक्टूबर को ईरान के साथ अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु समझौते में आगे बढ़ने से इंकार कर दिया. अमरीका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने ईरान को कट्टरवादी देश बताते हुए उसके साथ ऐतिहासिक अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते में आगे बढ़ने से इंकार कर दिया है. उन्‍होंने कहा कि ईरान पहले ही 2015 के समझौते का उल्लंघन कर चुका है, जिसमें ईरान के खिलाफ लगे कुछ अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध हटाने के बदले उसकी परमाणु क्षमता पर रोक लगाई गई थी. उल्लेखनीय है कि ‘ईरान न्यूक्लियर एग्रीमेंट रिव्यू एक्ट’ के तहत अमरीकी राष्ट्रपति को हर 90 दिन में कांग्रेस को यह प्रमाणित करना होता है कि ईरान परमाणु समझौते का पालन कर रहा है. ट्रंप दो बार तो इसे प्रमाणित कर चुके हैं मगर इस बार उन्होंने ऐसा नहीं किया. ऐसे में यूएस कांग्रेस के पास अब यह तय करने के लिए 60 दिन का समय है कि परमाणु समझौते से अलग होकर फिर से प्रतिबंध लगाए जाएं या नहीं.
इसबीच, एक संयुक्‍त बयान में ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस ने कहा है कि वे ट्रंप के कदम से चिंतित हैं, लेकिन समझौते के प्रति संकल्‍पबद्ध हैं. रूस ने कहा है कि वह समझौते के प्रति वचनबद्ध है और अंतर्राष्‍ट्रीय संबंधों में आक्रामक तथा धमकीपूर्ण तरीके अपनाए जाने के खिलाफ है.


अमेरिका के ‘यूनेस्को’ से बाहर होने की घोषणा

अमेरिका और इस्राइल ने 12 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ‘यूनेस्को’ की सदस्यता से खुद को बाहर करने की घोषणा की है. अमेरिकी विदेश विभाग ने यह कदम यूनेस्को के ‘‘इस्राइल विरोधी’’ रूख रखने का आरोप लगाते हुए उठाया है. संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि निकी हेली ने संयुक्त राष्ट्र की दूसरी एजेंसियों को कड़ी चेतावनी दी कि उनका भी उसी नजरिए से मूल्यांकन किया जाएगा. पेरिस स्थित यूनेस्को ने 1946 में काम करना शुरू किया था और यह विश्व धरोहर स्थल को नामित करने को लेकर मुख्य रूप से जाना जाता है. यूनेस्को से बाहर होने का अमेरिका का फैसला 31 दिसम्बर 2018 से प्रभावी होगा. हालांकि, अमेरिका उस वक्त तक यूनेस्को का एक पूर्णकालिक सदस्य बना रहेगा.


अफगानिस्तान में अमेरिकी बमबारी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अफगानिस्तान के संबंध में बनाई गई नई रणनीति के तहत आतंकवादियों के ठिकानों पर बमबारी तेज कर दी गई है. यहां वर्ष 2010 के बाद से ऐसी बमबारी नहीं देखी गई. उदाहरण के लिए इस वर्ष अगस्त में अफगानिस्तान के विभिन्न क्षेत्रों में विमानों द्वारा बम गिराने की 503 घटनाएं हुई थी और सितंबर में यह आंकड़ा बढ़कर 751 तक पहुंच गया, जो पहले की तुलना में 50 प्रतिशत अधिक है.


अमरीका के बमवर्षक विमानों का कोरिया प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान

अमरीका के दो भारी सुपरसोनिक बमवर्षक विमानों ने 11 अक्टूबर को कोरिया प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान भरी. उत्‍तर-कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम से पैदा तनाव के बीच अमेरिका के गुआम ठिकाने से दो बी-1बी लांसर विमानों ने उड़ान भरी. दक्षिण कोरिया के वायु क्षेत्र में पहुंचने के बाद दोनों बम वर्षकों ने दक्षिण कोरिया के पूर्वी तट के पास हवा से जमीन में मिसाइल दागने का अभ्‍यास किया. अमरीकी बम वर्षकों ने जापान और दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों के साथ मिलकर पहली बार रात के समय संयुक्‍त अभ्‍यास किया.


कैटेलोनिया की स्वायत्तता निलंबित करने पर विचार

स्पेन ने धमकी दी है कि अगर कैटेलोनिया एक स्वतंत्र देश के गठन के लिए स्पेन से अलग होने के अपने फैसले पर आगे बढ़ता है तो उसकी स्वायत्तता निलंबित कर दी जाएगी. स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजोय ने कहा कि इस क्षेत्र की स्वतंत्रता को रोकने के लिये उनके अधिकार में जो भी होगा वह सबकुछ करेंगे. उल्लेखनीय है कि कैटेलोनिया स्पेन का अर्धस्वायत्त प्रान्त है. इस प्रान्त ने स्पेन से अलग होने के लिए हाल ही में जनमत संग्रह कराया था. कैटेलोनिया नेताओं ने स्वतंत्रता घोषित करने के लिये बहुमत होने की बात कही थी.


कैलिफोर्निया के जंगलों में अब तक की सबसे भीषण आग

अमरीका के कैलिफोर्निया प्रां‍त के जंगलों में अब तक की सबसे भयंकर आग से काफी जान-माल का नुकसान झेलना पड़ा. इन इलाकों से करीब बीस हजार लोग अपने घर छोड़कर चले गए हैं. इस आग की घटना से हज़ारों इमारतें तबाह हो गई.


चीन के इस्पात छड़ों के आयात पर डंपिंगरोधी शुल्क

केंद्र सरकार ने चीन से कुछ इस्पात छड़ों के आयात पर पांच साल के लिए डंपिंगरोधी शुल्क लगा दिया है. सरकार ने यह कदम घरेलू उदयोगों को संरक्षण देने के उद्देश्य से उठाया है. वाणिज्य मंत्रालय ने ऐसे आयात पर डंपिंगरोधी शुल्क लगाने की सिफारिश की थी. इन इस्पात उत्पादों का इस्तेमाल वाहनों के कल-पुर्जे, रेल, इंजीनियरिंग और निर्माण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है. भारत ने चीन और दक्षिण कोरिया सहित चार देशों से कुछ इस्पात उत्पादों पर पहले से ही डंपिंग रोधी शुल्क लगाया हुआ है. निष्पक्ष व्यापार सुनिश्चित करने और घरेलू उद्योगों को समान अवसर देने के लिए डंपिंग रोधी उपाय किए जाते हैं.


अमेरिका और तुर्की की पारस्परिक वीजा सेवाएं निलंबित

अमेरिका और तुर्की ने 9 अक्टूबर से पारस्परिक वीजा सेवाएं निलंबित कर दी. इस्तांबुल में अमेरिकी दूतावास में एक तुर्की कर्मी की गिरफ्तारी के बाद यह कदम उठाया गया है.


ट्रंप का मेधा आधारित आव्रजन का प्रस्ताव

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेधा-आधारित आव्रजन प्रणाली का प्रस्ताव दिया है. यह भारत के उच्च कौशल वाले कर्मियों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. लेकिन इस कठोर योजना के तहत वह अपने परिवार को स्पांसर नहीं कर पाएंगे. नई नीतियां उन भारतीय मूल के उन हजारों अमेरिकियों को बुरी तरह प्रभावित करेंगी जो अपने परिवार के सदस्यों को अमेरिका लाने चाहते हैं खासकर अपने बूढ़े माता-पिता को.


कैटेलोनिया की आजादी को फ्रांस मान्यता नहीं

फ्रांस के यूरोपीय मामलों की मंत्री नताली लोइजो ने 9 अक्टूबर को कहा कि कैटेलोनिया की आजादी को अन्तर्राष्ट्रीय मान्यता नहीं मिलेगी. राष्ट्रीय एकता की रक्षा के लिए पिछले हफ्ते हजारों लोगों के प्रदर्शन करने के बाद कैटेलोनिया के राष्ट्रपति कार्ल्स पुइगडेमोंत पर पीछे हटने का दबाव बढ़ गया है. नताली लोइजो ने अपील की, स्पेनिश राजनीति के सभी स्तरों पर बातचीत के जरिये इस संकट का हल करने की जरूरत है.


अमरीका द्वारा सऊदी अरब को थार्ड मिसाइल बेचने को मंजूरी

अमरीका सरकार ने 7 अक्टूबर को सऊदी अरब को उन्‍नत टर्मिनल हाई अल्‍टीटयूड एरिया डिफेंस (थार्ड) मिसाइल रक्षा प्रणाली बेचने को मंजूरी दे दी. सऊदी अरब ने 15 अरब अमरीकी डॉलर में अमेरिका से थार्ड खरीदने का समझौता किया है. अमेरिका ने यह समझौता ईरान और दूसरे क्षेत्रीय खतरों से सऊदी अरब और खाड़ी की सुरक्षा को ध्यान में रख कर किया है.


अमेरिका को परमाणु समझौता रद्द करने की ईरान की चुनौती

ईरान ने 2015 में विश्व शक्तियों के साथ हुए परमाणु समझौते का बचाव किया है. ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी ने अमेरिका को परमाणु समझौता रद्द करने की चुनौती दी है. रोहानी ने कहा, ‘हमें जो लाभ मिले हैं, उन्हें वापस नहीं लिया जा सकता. उन्हें कोई वापस नहीं ले सकता, ना तो ये ट्रम्प और ना ही इनके जैसे 10 और ट्रम्प.’’ उल्लेखनीय है कि ईरान ने समझौते के तहत अपने विवादित परमाणु कार्यक्रम पर कुछ प्रतिबंधों को स्वीकार किया है और बदले में उसे देश के तेल निर्यात सहित अन्य के खिलाफ लगे प्रतिबंधों को हटाने से लाभ मिले. ट्रम्प के ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड तथा ईरान समर्थित शिया आतंकी समूह हिज्बुल्ला के खिलाफ नयी कार्रवाई करने की संभावना है.

0
0
0
s2sdefault